सोमवार, अगस्त 15

फिर कैसी आजादी है ?????

भ्रष्ट नेताओं की सरकार, बेबस प्रजा खड़ी लाचार...
हर तरफ बर्बादी है, फिर कैसी आजादी है ????
गुजरात में दंगो की दरकार, असम में माओवाद पुकार...
कश्मीर में आतंकवादी है, फिर कैसी आजादी है ?????
- आदिल

1 टिप्पणी:

  1. Nice post .

    और देखिए एक भेंट आपके लिए

    मेंढक शैली के हिंदी ब्लॉगर्स के चिंतन का स्टाइल

    जब तक नेता मेंढक प्रवृत्ति नहीं त्यागेंगे तब तक वे सबके कल्याण की बात सोच ही नहीं सकते।

    उत्तर देंहटाएं